मुझे चिट्टा दे दो, नहीं तो मर जाऊंगी: ठियोग बाजार में Drugs के लिए रोती नजर आई युवती

ब्यूरो

हिमाचल प्रदेश के युवाओं पर नशे का खुमार किस कदर हावी हो गया है, यह खबर पढ़ने के बाद आपको बखूबी समझ आ जाएगा। बाहरी प्रदेशों से आ रहे केमिकल नशे ने लड़कों के साथ प्रदेश की बेटियों को भी अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। ताजा मामला प्रदेश की राजधानी शिमला (Shimla) में स्थित ठियोग उपमंडल के बाजार से सामने आया है। यहां पर एक युवती बीच बाजार में नशे के लिए रोती हुई नजर आई। नशा ना मिल पाने के कारण युवती की हालत इतनी खराब हो गई थी कि धूप में भी कांप रही थी।
बाजू में थे इंजेक्शन के गहरे निशान
युवती नशे की मांग करते हुए चीख-चीख कर कह रही थी कि मुझे चिट्टा दे दो, नहीं तो मर जाऊंगी।
उक्त युवती के बाजू में इंजेक्शन के काफी गहरे निशान देखे गए, बाजू की हालत भी खराब नजर आई। स्थानीय लोगों द्वारा पूछताछ किए जाने पर उसने अपनी मां के बारे में बताया। जिसके बाद लोगों ने उन्हें मौके पर बुलाया। अपनि बेटी के बारे में जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची मां ने बताया कि वह 10-12 दिन से गायब थी।एक दिन पहले घर लौटी और थोड़ी देर रूकने के बाद फिर से भाग गई। बाजार में हुए इस पूरे वाकये का वीडियो सोशल मीडिया पर भी पहुंच गया है। लड़की को ठियोग थाने ले जाकर उससे पूछताछ भी की गई है।
लड़कों की पूरी गैंग के साथ कर रही थी चिट्टा पार्टी
लड़की ने बताया कि वह कुछ लड़कों के साथ थी। एक पूरी गैंग है जिसके साथ मिलकर चिट्टा पार्टी की जाती है। इस युवती की एक अन्य लड़की के साथ किसी बात पर धक्का मुक्की भी हुई थी। बतौर रिपोर्ट्स, लड़की बार-बार घर से भाग जाती है। कुछ समय पहले भी लड़की की मां ने पुलिस में शिकायत दी थी। पुलिस ने जब पता किया तो लड़की ने खुद कहा कि वो अपनी मर्जी से घर से आई है और अपनी दोस्त के पास है। स्थानीय पुलिस ने मामले के बारे में अधिक जानकारी देते हुए कहा कि लड़की की काउंसलिंग की जा रही है। इसके अलावा लड़की ने जितने लड़कों के नाम बताए हैं उन्हें बुलाया गया। नशा निवारण समिति, स्थानीय पंचायत और परिजनों को भी सूचित कर उन सभी की काउंसलिंग की जा रही है। लड़की का मेडिकल करवा लिया गया है। एसडीपीओ ठियोग इस मामले को देख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *