जोलसप्पड़ में 332 करोड़ की लागत से बनने वाले मैडिकल कॉलेज भवन निर्माण की हुई शुरुआत

जोलसप्पड़ में 332 करोड़ की लागत से बनने वाले मैडिकल कॉलेज भवन निर्माण की हुई शुरुआत, लोगों में खुशी की लहर:श्री विजय अग्निहोत्री

नादौन विधानसभा क्षेत्र के जोलसप्पड़ में 332 करोड़ की लागत से बनने वाले मैडिकल कॉलेज भवन के निर्माण का कार्य शुरू हो गया है। निर्माण कार्य में प्रयुक्त होने वाली मशीनरी के यहां पँहुच जाने पर इलाके में खुशी की लहर दौड़ गई। लोगों ने इस कार्य को शुरू किये जाने पर प्रदेश सरकार, मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर और एचआरटीसी के उपाध्यक्ष श्री विजय अग्निहोत्री का आभार जताया है।

जोलसप्पड़ में मैडिकल कॉलेज के भवन निर्माण कार्य के शुरू होने की जानकारी देते हुये निगम उपाध्यक्ष श्री विजय अग्निहोत्री ने कहा कि वर्ष 2018 में तत्कालीन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा द्वारा स्वीकृत किये गए इस मेडिकल कॉलेज का उसी वर्ष 16 जून को शिलान्यास किया था। इस निर्माण कार्य की सारी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद अब भवन के निर्माण कार्य शुरू हो रहा है। उन्होंने बताया कि इस निर्माण पर 332 करोड़ की राशि खर्च की जायेगी।

निगम उपाध्यक्ष श्री विजय अग्निहोत्री ने कहा कि केंद्रीय लोनिवि जोलसप्पड़ में मैडिकल कॉलेज अस्पताल के लिए आबंटित की गई 16 एकड़ की भूमि में इस कार्य को शुरू कर रहा है। यह जगह नेशनल हाइवे पर होने की वजह से सारे हमीरपुर जिला से सुविधाजनक पँहुच वाली है। उन्होंने कहा कि पहले चरण में मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अकादमिक और अस्पताल ब्लॉक एवं छात्र-छात्राओं और डॉक्टर्स के होस्टलों के निर्माण का प्रावधान रखा गया है।

अस्पताल में 300 बैड की क्षमता होगी। यहां पर 6 ओटीए और 20 बैड आईसीयू सहित सभी तरह की डायग्नॉस्टिक सुविधा उपलब्ध होंगी।
निगम उपाध्यक्ष श्री विजय अग्निहोत्री ने इस कार्य के शुरू किये जाने पर मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर, तत्तकालीन केंद्रीय मंत्री एवं मौजूदा बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि नादौन विस क्षेत्र सहित पूरे जिला हमीरपुर के लोगों की लंबे समय से चली आ रही भवन निर्माण कार्य शुरू किये जाने की मांग पूरी हुई है। उन्होंने कहा कि भवन निर्माण के कार्य को जल्द पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, ताकि इसे शीघ्र अतिशीघ्र जनता के लिए समर्पित किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *